Top 10 records in Cricket

Top 10 records in Cricket | क्रिकेट के इन 10 रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन!

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जहाँ कई रिकार्ड बनते हैं तो कई टूटते हैं, लेकिन क्रिकेट इतिहास में कुछ ऐसे भी रिकॉर्ड हैं जिन्हें तोड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए मुश्किल ही नही नामुमकिन है. आज हम ऐसे ही 10 रिकॉर्ड की बात करेंगे जो इन खिलाड़ियों ने जब बनाये, तो उन्होंने खुद नही सोचा था कि इन्हें किसी के लिए भी तोड़ना असम्भव होगा.

Top 10 records in Cricket

1. वनडे में सचिन के 18 हजार से ज्यादा रन

सचिन तेंदुलकर दुनिया के सबसे महान बल्लेबाज रहे हैं और उन्हें क्रिकेट का भगवान भी कहा जाता है. सचिन के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा 18426 रन हैं और इस रिकॉर्ड को तोड़ना फिलहाल तो नामुमकिन जैसा ही लगता है. इस लिस्ट में सचिन से बहुत पीछे हैं. बता दें कि सचिन के नाम टेस्ट क्रिकेट में भी सबसे ज्यादा रन हैं.

2. ऑस्ट्रेलिया की लगातार 2 बार16 जीत

ऑस्ट्रेलिया टीम का क्रिकेट जगत में दबदबा किसी से छुपा नही है. ऑस्ट्रेलिया ने सबसे पहले स्टीव वॉ के नेतृत्व में 1999-2001 के बीच ऑस्ट्रेलिया ने 16 टेस्ट मैच लगातार जीते. यही रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया ने दोबारा बनाया रिकी पोन्टिंग के नेतृत्व में 2005-08 के बीच ऑस्ट्रेलिया ने 16 टेस्ट मैच दोबारा लगातार जीते. आज इस रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन लगता है.

3. बिना शतक के मिस्बाह के सबसे ज्यादा रन

पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक उनके लिए सबसे बेहतरीन मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज रहे हैं. मिस्बाह ने अपने वनडे करियर में 162 वनडे मैचों में 43.41 की औसत से कुल 5122 रन बनाए लेकिन कभी भी वो शतक नही लगा पाए. ये रिकॉर्ड आने वाले समय में दोबारा बने इसका चांस बेहद कम ही है.

4. एक वनडे मैच में 8 विकेट

श्रीलंका के दिग्गज तेज गेंदबाज चामिंडा वास के नाम एक बड़ा रिकॉर्ड है. उन्होंने 2001 में वनडे मैच में 19 रन देकर 8 विकेट हासिल किए थे. 21 सालों के बाद भी आजतक ये रिकॉर्ड कोई खिलाड़ी नहीं तोड़ पाया है.

5. गेल की 175 रन की पारी

साल 2013 के आईपीएल में क्रिस गेल ने एक ऐसी पारी खेली जिसे देखकर सब भौच्चके रह गए, उन्होंने इस तरह से पूणे वॉरियर्स के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और मैदान में चारो तरफ चौके और छक्के ही नज़र आए. उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का आलम ये था कि उन्होनें कब चिन्नास्वामी स्टेडियम में 66 गेंदों में नाबाद 175 रन बना डाले इस बात का पता ही नहीं चला. अपनी पारी के दौरान, बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने टी 20 में सबसे तेज 100 और टी 20 में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड तोड़ा. अगर भविष्य में किसी को इस रिकॉर्ड को तोड़ना है तो उसे वैसी ही आतिशी बल्लेबाजी करनी होगी जैसी उस दिन गेल ने की थी.

6. जैक हॉब्स के 61760 रन

सर जैक हॉब्स 20 सदी के बेहतरीन खिलाड़ी रहे. जैक हॉब्स ने 834 फर्स्ट क्लास मैच खेले, इनमें सिर्फ 61 टेस्ट मैच हैं. हॉब्स का एकमात्र शौक रन बनाना था. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 61,760 रन बनाए. उन्हें क्रिकेट लीजेंड के रूप में हमेशा याद किया जाएगा.

7. एक टेस्ट में 19 विकेट

इंग्लैंड के दिग्गज गेंदबाज जिम लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टेस्ट में 19 विकेट लिए थे. ये एक ऐसा रिकॉर्ड है जिसे कभी नहीं तोड़ा जा सकता है. इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए किसी गेंदबाज को 20 विकेट हासिल करने होंगे. ये क्रिकेट के उन रिकॉर्ड्स में से है जिन्हें तोड़न लगभग नामुमकिन ही है.

8. गेल का टी-20 में सबसे तेज शतक

टी20 क्रिकेट का दूसरा नाम गेल हैं. 2004 ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज सायमंड्स ने  इंग्लिश काउंटी टीम केंट के लिए खेलते हुए महज 34 गेंदों पर शतक जमा दिया था. यह रिकॉर्ड आईपीएल 2013 तक कायम रहा, लेकिन 2013 के आईपीएल में वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल ने रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए 175 नाबाद रन बनाए. उन्होंने शतक केवल 30 गेंदों में ही लगा दिया.

9. मुरलीधरन के 1347 अंतरराष्ट्रीय विकेट

श्रीलंका के स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने 20 साल की उम्र में खेलना शुरू किया था. और  लगभग 20 साल के अपने क्रिकेट करियर में मुरली ने 800 टेस्ट विकेट, 534 वन डे विकेट लिए, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. मुरली ने 13 टी-20 विकेट भी हासिल किये. 1347 अन्तर्राष्ट्रीय विकेट लेने वाले वह दुनिया के एकमात्र गेंदबाज हैं.

10.आईसीसी के तीनों टूर्नामेंट जीतने वाले दुनिया के इकलौते कप्तान हैं धोनी

एमएस धोनी (ms dhoni) की कप्तानी में भारत ने साल 2007 में वर्ल्ड टी20 अपने नाम किया था। इसके बाद साल 2011 में माही की अगुआई में टीम इंडिया 28 साल बाद वनडे में दूसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बनी। साल 2013 में माही की कप्तानी में ही भारत ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीता था।

बतौर कप्तान सर्वाधिक इंटरनेशनल मैच खेलने वाले कप्तान हैं धोनी

धोनी ने 332 इंटरनेशनल मैचों (200 वनडे, 60 टेस्ट,72 टी20 इंटरनेशनल ) में कप्तानी की है। ये एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। धोनी के बाद जिस खिलाड़ी ने अपनी टीम के लिए सर्वाधिक इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी की है वह हैं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting)। पोंटिंग ने 324 इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी की है। माही क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 50 से अधिक मैचों में कप्तानी करने वाले दुनिया के इकलौते कप्तान हैं।

बतौर कप्तान सबसे ज्यादा वनडे फाइनल जीते हैं धोनी ने

धोनी ने भारत की ओर से 6 मल्टी नेशन वनडे टूर्नामेंट के फाइनल में भारत की अगुआई की जिसमें उन्होंने 4 बार जीत हासिल की। मल्टी नेशन वनडे टूर्नामेंट फाइनल्स चार बार जीतने वाले दुनिया के वह इकलौते कप्तान हैं। धोनी ने बतौर कप्तान 110 वनडे जीते हैं जो किसी भी कप्तान का दूसरा सर्वाधिक है। इस लिस्ट में पोंटिंग पहले नंबर पर हैं जिन्होंने 165 वनडे अपनी कप्तानी में जीते है।

आप इसे भी जरूर पढे ।

102 Amazing Facts About IPL In Hindi | आईपीएल से जुड़े मजेदार रोचक तथ्य

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो, तो आप इसे SHARE जरुर करे. और अगर आपके पास Top 10 records in Cricket | क्रिकेट के इन 10 रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन! से Related कोई सुझाव हो, तो आप Comment जरुर करे. धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published.